Submit your work, meet writers and drop the ads. Become a member
Megha Thakur Aug 21
मेरे पास छोड़ जाओ,
अपनी खुशबू, अपनी बाते।
उन्हें सम्भाल कर रखूंगी मैं,
चाहे दिन हो या हो रातें।
- मेघा ठाकुर
Megha Thakur Aug 14
कभी चाहते थे,
तुम्हें ना खोना।

अभी चाहते हैं,
की काश तुम हमे कभी मिले ही ना होते।
-मेघा ठाकुर
Megha Thakur Aug 9
How hard it is,
To find peace.
Simple, as much as,
Feeling the fresh breeze.
-Megha Thakur
Megha Thakur Jun 16
ये आँखे आत्मा का दरपन है,
बिन बोले सब बयान कर देती है।

छिपाती नहीं कुछ भी ये,
इंसान का हर राज़ बतादेती है।

झूठ इनकी फ़ितरत में नहीं,
ये तों सच का साथ ही देती है।

झाँकना हो किसीकी मन में तों,
रास्ता भी यहीं बतादेती है।
-मेघा ठाकुर
Megha Thakur Jul 23
कौन क़ुबूल करता है,
की कोन कितना सच्चा है।
चाहे पतझड़ कितना भी लम्बा हो,
फूल तों फिर भी खिलता है।
क्या तुमने कभी किसीको मानते देखा है,
की वो मन से आज भी एक बच्चा है।
जितना जिसकी किस्मत में हो,
उतना उसको जरूर मिलता है।
-मेघा ठाकुर
Megha Thakur Jul 16
You know what, my area of interest is so wide,
That I have got nothing to hide.
And I don't want to be someone's bride,
I just want to be my parents pride.
-Megha Thakur
Megha Thakur Jul 8
मुझे यूँ ना आजमा ऐ जिन्दगी,
मैं तेरी गुलाम नहीं।
तू मुझसे नाराज हो जाएँ,
इतनी भी मैं आम नहीं।
याद रख जो मैंने मौत को चूना लिया,
तों मेरे सिवा लेने वाला कोई तेरा नाम नहीं।
क्योंकि तू मुझसे हैं,
मेरे बिना तेरी कोई पहचान नहीं।
-मेघा ठाकुर
Megha Thakur Jun 28
याद भी बाकी नहीं,
उस बीते वक्त की जो हमने साथ गुजारे थें।
पर ज़ेहन में आज भी वो पल जिन्दा हैं,
जब तुम हमसे तो जीते, पर हमको हारें थें।
अफसोस नहीं जाने का तुम्हारे,
क्योंकि तुम ना हमारे थें।
गम तों उन बीते लम्हातों का हैं,
जो हमने तुम्हारे साथ गुजारे थें।
-मेघा ठाकुर
David ugwu Apr 15
As the season of warmth approaches
As the appointed day draws neigh  
That day on which him who I call saviour cometh
In readiness my heart accepts
In fear my spirit remains
In doubt my mind wanders
Into trembling my body goes
Yet complete I feel
For in him was I made whole
A piece about the clouded feelings that comes to both the mind and body when the last day draws near, it's also a piece that  embraces my faith and believe
Satyam tiwari Jan 2019
At the moment of life in that case,
Suppose failure meets u n slaps on ur face...
A time comes where solution is hard to find,,
Where u feel upset n situation is not kind..
Have some patience be calm & steady,,
Prepare yourself and be ready....

Dont be disappoint if u fail,
Its boat of ur life u have to sail..
Obstacles are waiting further on the way.,,
Your plan should be complete & action should say...
Life is full of surprises direct or Eddy,,
Just be prepare for a tough ride n be READY....
Always be ready ......because life is full of opportunity..

— The End —