Submit your work, meet writers and drop the ads. Become a member
Godawan 4d
No true love
But only agreements are seen
in this well decorated world
            No true lovers
But only experts in negotiations
are seen in huddles
              No true health
But only clothes are fashionable
               No true promises
But only rhetoric is sustainable
               No rites do survive
But only social media status are viable
                No patience & serenity
But only untenable noise is audible
                 Only truth about today
Greed n greed has captured everyone.
Godawan 5d
अब सच्चा प्यार कहां मिलता है
अब तो समझौते करने की
मंडी सजी है
जो जितना भाव- तोल करने में माहिर हो
रिश्ता उतना ही टिकाऊ है
नहीं किसी के पास सेहत
अब तो बस कपड़े ही भड़काऊ हैं
नहीं किसी के पास वचन
अब तो लफ्फाजी ही टिकाऊ है
संस्कार अब कहां बचे
सोशल साइट के स्टेटस कामचलाऊ हैं
नहीं बचा अब धैर्य व चैन
बस जाहिल शोर उबाऊ‌ है
सच्चाई बस एक बची है
लोभ-लालच ही बिकाऊ है।
Godawan Apr 14
छत पर सोते ,तारे गिनते
ध्रुव और सप्त ऋषि देखते
सूरज घूमता है
पृथ्वी स्थिर है
ऐसी बेकार बातें सुनते।

श्रवन की कावड़ का सुनते
लेकिन एक घड़ा पानी को लड़ते
चंदा के उजियारे में रहकर
उसकी ही निंदा करते
तारा टूटे तो हर - हर करते
कितना भयंकर आडंबर सुनते।

बारिश होने पर
बिस्तर ना सूखे बचते
बादल की गर्जन पर
भीमसेन - भीमसेन रटते
सोचो कितना अंधविश्वास में जीते।

गर्मी में पानी कहां था
घी मिल जाता
कोई पानी ना देता
परिंदे भी कहां रहते थे
वो तो प्यासे ही मर जाते थे
या फिर देशांतर गमन करते थे

चादर ना‌ थी ओढने को
बस ऊंटबालों का कंबल चुभता
ना तन पर कमीज होता
जूता तो कोई बिरला पहनता।

दादी मां की कथा में
भूत प्रेत की गाथा सुनते
पूरी जिंदगी झूठा डरते
हार्ट अटैक की मौत को
भूत द्वारा तोड़ा बताते।

पढ़ने को पाठशालाएं कहां थी
कहां औषधालय थे
बस घास - फूस से घाव भरते
कई तो इंफेक्शन से ही मरते ।

ऊंट घोड़ों की सवारी करते
आधे तो पैदल ही चलते
साठ किलोमीटर के सफर में
दो दिन और एक रात लगते ।

अब आदमी परिंदे की तरह उड़ता है
अपना भला-बुरा अच्छी तरह समझता है
अपने घर से ही दफ्तर का काम कर लेता है
विज्ञान के आविष्कारों ने
आकाश - पाताल एक बना दिया है
बंद कमरों में रहकर भी
अब कुछ छुपा नहीं रहता है।

बस अब मनुष्य के पास समय नहीं है
इसलिए सिकुड़ा- सिकुड़ा रहता है
फिर भी बेबस व लाचार नहीं है
अवसर और ज्ञान उसके पास है
इसलिए आज का आदमी खास है।
Godawan Apr 12
Thank you girlfriend
A simple sentence
with a big sense
Seems simple
but difficult to say
Those who have courage
only can go say.
Kanishak topped UPSC exam
This is a good news
But he gave credit of success
to his girlfriend
This is a great news
This is a respect to
unseen & unspoken power
always behind you
Who remains more close to you
in every step than even you
But never acknowledged
with kind words due
Thank you Kanishk
for giving her due
As it is also credit to
millions of ladies
Who remain with all of us
But none of us acknowledge
with such kind & generous.
Godawan Apr 12
थैंक यू गर्लफ्रेंड"
वाक्य छोटा है
पर असर बड़ा है
आसान लगता है
पर कहना मुश्किल है
जो होंसले के धनी हों
उन्हें ना मुश्किल हो
कनिष्क कटारिया ने
यूपीएससी टॉप किया
यह बड़ी खबर है
परंतु इस सफलता के लिए
"थैंक यू गर्लफ्रेंड "कहना
उससे भी बड़ी खबर है
यह सम्मान है उस किरदार को
जिसे हमेशा साथ रहने पर भी
हमेशा छुपाया जाता है
जो हर पल आप से भी ज्यादा
आपके दिल के पास रहता है
फिर भी एक शुक्रिया का
मोहताज ही रह जाता है
कहने को मुहावरा है
हर सफल पुरुष के पीछे
एक ही स्त्री होती है
परंतु किस में उजागर करने की
अदम्य  शक्ति होती है
धन्यवाद कनिष्क तुमने
उन लाखों स्त्रियों की
कल्पनाओं को सम्मान दिया
जो यह कब से चाहती थीं।
Godawan Apr 11
National safe Motherhood day
Celebrated in India on April 11
In co-oporation with white Ribbon Alliance of India
to reduce maternal deaths
Which is a big menace
Out of 30 million pregnant women roughly
45k go into the hands of death yearly
Therefore Six pillars of safe Motherhood have been chalked out
first one is family planning
While 2nd to 5th are antenatal, obstetric ,prenatal n postnatal care
And sixth is the control of STD and *** infection
Above all is avoid child marriage and promotion of girl child education
If we succeed in our this great mission
It will be a great satisfaction.
Godawan Apr 11
नजाकत का खेल निराला है
यह अंधेरे में भी उजाला है
इससे कोई बच ना पाए
इसका पूरा प्रबंध तेरे पास है
कुछ नजाकत हमें तेरी याद हैं
जो हमारी अद्भुत पूंजी हैं
जिसका हम कर रहे निवेश आज हैं
रेस्टोरेंट में मेनू पर
धीरे धीरे फिसलती उंगलियां
एक नजाकत है
साथ बैठकर लंच करना
तेरा मुंह ही मुंह में कोर चबाना
एक नजाकत है
भीड़ में शांत रहकर
गाने सुनते -सुनते
फंसी हुई गाड़ी निकालना
एक नजाकत है
कीमती स्टोन की माला में
पेंडल जैसे गोगल लगाना
एक नजाकत है
जादुई खुशबू लिए पास से गुजरना
जो सबको प्यारा लगता है
ऊपर से तेरा "एक्सक्यूज मी" बोलना
एक नजाकत है
आंखों को खास काजल लगाना
और उनको सजल बनाना
ऊपर से तेरा कनखियों से देखना
एक नजाकत है
तारीफ सुनकर भी अनसुना करना
फिर दोहराने पर धीरे से
तेरा वह मुस्कुराना
एक नजाकत है।
Next page