Submit your work, meet writers and drop the ads. Become a member
Nov 2023
शुभ दीपावली

तन की तंदुरस्ती,
मन की शांति,
ह्रदय में प्रेम का स्रोत बसे,

देश में धन, धान्य समृद्धि रहे, हमारे फौजी वीर सलामत रहे।

दुनियां में कोई नंगा,भूखा न हो, प्यासा न हो; सब को एक घर का आश्रय देना प्रभु।

बच्चे बेसहारा और अनाथ न हो, बूढ़े मात पिता को, बच्चों का साथ हो।

सारी दुनियां में हो अमन, प्रेम और शांति हो; सब को सनमति, सद्बुद्धि देना दाता।

हे ईश्वर, यही है आपसे मेरी याचना, मेरी बिनती , मेरी प्रार्थना।
शुभ हो दीपावली, और सुखमय हो पूरा साल।

Armin Dutia Motashaw
And Family
  198
 
Please log in to view and add comments on poems