Submit your work, meet writers and drop the ads. Become a member
Nat Lipstadt Sep 2019
~for Sreetama Chatterjee, granddaughter of Pradip Chatterjee~

A first time grandfather observes,
“that one path ends, a new one begins”

A philosophy, an observation shared,
one that I am, in multiplicity acquainted

Sources inform me that Sreetama is
of Sanskrit origin, the meaning is
“gift of god”

how wonderful are the mysterious coincidences in this world!

For my Hebrew name,
Netanel, given to me at my birth, the meaning is
“gift of god”

Sources inform me that name of Sreetama has given you
the desire for creative, artistic or musical expression
in an original way.

I can pretend to be surprised, but who would I fool?

you, granddaughter of my friend, an esteemed poet,
Pradip Chatterjee,
who delights in you,
you, an exquisite of the small
you, so powerful already,
that he has shelved his writing,
(temporarily I suspect)
to tend to your upbringing

You, so powerful already,
you, will break his will, command his attention,
demanding, bringing out his issuance of a thousand poems,
all revealing and reveling in your mastery,
over him!

You, so powerful already,
in secret concert, listening secretly,
already composing silently, smilingly,
awaiting the arrival of your fine,
very fine, motor skills,
to grasp, own! his writing utensils,
with the strength of a child insistent

You, feeling the power within those instruments,
sparking a commencement and a continuation of
the generational gift residing in your senses

I await those artistic creature creations
most impatiently...

—————————————————————————————
“the charming patience is the wait time tween your visions of
the excellence of the common, the exquisites of the small,
the delights of loss and pain translated into mercurial milestones,
poems.”

https://hellopoetry.com/poem/3299027/pradip-im-a-charming-man-with-a-fragile-patience/

<>
छोटी की उत्तमता
[ *~ बालिका श्रीतमा चटर्जी के लिए कविता ~
]

प्रथम बार दादा ने महसूस किया,
"एक पथ पड़ाव तक पहुंचता है, एक नया प्रारम्भ होता है"

एक दर्शन, एक अवलोकन साझा करता हूँ
जिससे मैं भली भांति परिचित हूँ| कई गुना

स्त्रोत बताते हैं कि शब्द 'श्रीतमा' संस्कृत मूल का है,
जिसका अर्थ है - "ईश्वर का आशीर्वाद";

दुनिया में होने वाले रहस्यमय संयोग, कितने अद्भुत हैं!
मेरे हिब्रू भाषा के नाम - 'नेटानेल'

जिसे मेरे जन्म के समय, मुझे दिया गया
उसका भी अर्थ यही है - " ईश्वर का आशीर्वाद"

मुझे, सूत्र बताते हैं कि 'श्रीतमा' नाम ने तुम्हे
रचनात्मक, कलात्मक या संगीतमय -

अभिव्यक्ति की इच्छा दी है
बिलकुल नैसर्गिक और मूल तरीके से।

मैं आश्चर्यचकित होने का नाटक कर सकता हूं,
लेकिन आखिर मैं किसे मूर्ख बनाऊंगा?

तुम, मेरे दोस्त, एक सम्मानित कवि,
प्रदीप चटर्जी की पोती हो

जो तुम्हे देख कर प्रसन्न होता है
तुम, छोटी हो, श्रेष्ठ हो, उत्तम हो

तुम पहले से ही इतनी खुशनसीब हो कि,
उसने अपने लेखन को रोक कर दिया,
(अस्थायी रूप से, ऐसा मेरा मानना है)

केवल और केवल
तुम्हारी अच्छी परवरिश के लिए

तुम पहले से ही इतनी शक्तिशाली हो,
तुम उसकी इच्छाशक्ति को मोड़ सकोगी

उसके ध्यान को अपनी ओर खींचकर
अपनी महारत से उसके भीतर

हिलोरें मार रही हज़ारों कविताओं को
रहस्योद्घाटित होने का अवसर दे सकोगी

तुम पहले से ही इतनी शक्तिशाली हो,
तुम चुपके से धीरे धीरे सुन रही हो

तदात्म्य स्थापित कर रही हो
चुपचाप रच रही हो, गढ़ रही हो

इंतज़ार कर रही हो, समय आने का
अपनी मांसपेशियों पर नियंत्रण होने का

जिससे तुम लेखनी को पकड़ सको
सुदृढ़ता के साथ नियंत्रित कर सको

कुशलता से उसका उपयोग कर सको
एक बच्चे की ताकत और जिद के साथ|


तुम उन उपकरणों में निहित शक्ति महसूस कर रही हो,
जो शुरुआत से ही निरंतर तुम्हारे भीतर,

स्फुलिंग उत्पन्न कर, तुम्हारी इन्द्रियों के भीतर मौजूद
पीढ़ीगत उपहार को जारी रखते हैं

मुझे तुम्हारी उन कलात्मक, जीवंत कृतियों का,
इंतजार है, अधीरता के साथ, हाँ, पूरी अधीरता के साथ|


Many thanks to Shiv Pratap  Pal for his translation, advice and exquisite attention to the smallest detail.

— The End —